एसएमएस अस्पताल में कमाल / घरेलू विवाद में महिला के हाथ का पंजा कटा, डॉक्टरों ने साढ़े 5 घंटे के ऑपरेशन के बाद जोड़ा


जयपुर. शहर के एसएमएस के डॉक्टरों ने रविवार को साढ़े पांच घंटे के ऑपरेशन में एक महिला के हाथ का कटा पंजा जोड़ने में कामयाबी हासिल की है। घरेलू विवाद में इस महिला का हाथ कट गया था। गंभीर हाल में उसे पहले दूदू के ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। वहां से जयपुर रैफर कर दिया गया। डॉक्टरों की इस उपलब्धि पर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने उन्हें बधाई दी है।   


टोंक जिले में मालपुरा निवासी 25 वर्षीय महिला का घरेलू विवाद के चलते हाथ काट दिया गया था। उसे लहूलुहान हालत में रविवार को दोपहर दो बजे एसएमएस अस्पताल लाया गया था। 


यह टीम ऑपरेशन में रही शामिल


प्लास्टिक सर्जरी और एनेस्थीसिया विभाग के चिकित्सकों ने रात करीब 8:30 बजे तक चले ऑपरेशन में महिला का पंजा सफलतापूर्वक जोड़ दिया। ऑपरेशन करने वाली टीम में प्लास्टिक सर्जरी विभाग से डॉ प्रदीप गोयल, डॉ प्रतीक गुप्ता, डॉ अभिषेक शर्मा, डॉ कौशल, डॉ शिखा बंसल, जबकि एनेस्थीसिया विभाग से डॉ. मृदुला, डॉ. चेताली, डॉ श्रुति शामिल रहीं। 


चिकित्सा मंत्री ने दी चिकित्सकों को बधाई


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने महिला के हाथ का कटा पंजा जोड़ने में सफलता प्राप्त करने पर डाक्टरों को बधाई दी है। रघु शर्मा ने कहा कि एसएमएस हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने अपनी तत्परता और विशेषज्ञता से महिला का कटा हुआ पंजा जोड़कर उसे अपंग होने से बचाया है। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. सुधीर भंडारी, अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा तथा प्लास्टिक सर्जरी एवं एनेस्थीसिया विभाग सहित पूरे एसएमएस हॉस्पिटल परिवार को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।


Popular posts
राजस्थान में कोरोना की रफ्तार / पहले 78 दिनों में आए 5 हजार केस, अब 20 दिन में ही 10 हजार के पार पहुंचा आंकड़ा
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image