इंस्टाग्राम ग्रुप पर रेप की बातें, स्कूल का लड़का हिरासत में, 20 की पहचान


नई दिल्ली
इंस्टाग्राम ऐप पर ग्रुप बनाकर लड़कियों के बारे में अश्लील बातें करनेवाले नाबालिग छात्रों पर पुलिस का शिकंजा कसना शुरू हो चुका है। इनमें से एक को पुलिस ने मंगलवार को हिरासत में लिया। ग्रुप से जुड़े बाकी लोग (करीब 21) की पहचान भी हो चुकी है। उन सभी से पूछताछ होगी। पकड़ा गया छात्र नाबालिग है और अभी किसी स्कूल में ही पढ़ता है।


क्या है मामला
दिल्ली के इन नाबालिग छात्रों ने इंस्टाग्राम ऐप पर BoysLockerRoom नाम से एक ग्रुप बनाया हुआ था। इसमें ये लोग लड़कियों की तस्वीरें शेयर करते, जिसमें से कई नाबालिग भी होती थीं। उस ग्रुप में लड़कियों के गैंगरेप तक के इरादा जताए गए थे। ये लोग ग्रुप में लड़कियों की तस्वीरें शेयर करते और उनके बारे में आपस में गंदी-गंदी बातें करते थे।


तीन-चार स्कूल के बच्चे ग्रुप में शामिल
जांच में पता चला है कि इस ग्रुप को एक सप्ताह पहले बनाया गया था और एडमिन समेत इसमें 21 लोग शामिल हैं। इस ग्रुप में तीन-चार स्कूल के बच्चे, जिसमें एक स्कूल दक्षिण दिल्ली में स्थित है, शामिल हैं। कुछ छात्रों ने कहा कि वे इस ग्रुप में शामिल जरूर हैं लेकिन कोई मैसेज नहीं डाला है। इस ग्रुप की करतूतों के खिलाफ सोशल मीडिया में कैंपेन चल रहा है, जिसमें बड़ी संख्या में लड़कियां भी शामिल हैं।


बना लिया था दूसरा ग्रुप
ग्रुप के एक छात्र से पुलिस पहले से टच में थी। छात्र ने बताया था कि वह इस समूह के कई लोगों को नहीं जानता है क्योंकि वे सभी दूसरे स्कूल के हैं। जैसे इस कथित ग्रुप का स्क्रीनशॉट्स वायरल हुआ इसे डिलीट कर दिया गया और 'लॉकररूम 2.0' के नाम से एक अन्य ग्रुप बना लिया गया। इस ग्रुप में लड़की को भी ऐड किया गया था।


साइबर सेल के डीसीपी अन्वेश रॉय ने छात्र के पकड़े जाने से पहले बताय था कि, 'हमने वायरल स्क्रीनशॉट का स्वत: संज्ञान लेते हुए आईटी ऐक्ट के सेक्शन 67, 67A के तहत केस दर्ज कर लिया है। इसके अलावा भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 465 (फर्जीवाड़ा के लिए दंड) 469 (साख पर धब्बा लगाने के लिए फर्जीवाड़ा) और 471 (फर्जीवाड़ा) के तहत भी मामला दर्ज किया है।' 


Popular posts
स्कूली दिनों के तीन दोस्तों के हाथ में जल, थल और नभ.. की सुरक्षा की कमान
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
 स्पेशल फ्लाइट: सरकार को फटकार / मिडिल सीट भरने पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार को एयरलाइंस की बजाय लोगों की सेहत की चिंता करनी चाहिए
Image
रेलवे की बेदर्द अपील- श्रमिक ट्रेनों में गर्भवती महिलाएं, बच्चे सफर न करें; सवाल- क्या इन ट्रेनों में लोग सैर पर निकले हैं? बच्चों और महिलाओं को छोड़कर मजदूर घर कैसे लौटेंगे?
Image
केन्द्र सरकार वहन करें श्रमिकों व मजदूरों को अपने-अपने राज्यों में पहुंचाने का खर्चा: पायलट
Image