रोबॉटिक्स में जबर्दस्त करियर, शुरुआती पैकेज 6 लाख तक


उद्योग जगत के बीच तेजी से रोबॉट इंसान का स्थान लेता जा रहा है। रोबॉट की सेवा लेने में कंपनियों को कई फायदे हैं। एक तो उनको कम खर्च करने पड़ते हैं। दूसरा उत्पादकता पर भी असर पड़ता है। रोबॉट एक इंसान के मुकाबले ज्यादा समय तक काम कर सकता है।

वैसे पहले ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में रोबॉट का इस्तेमाल किया गया लेकिन एयरोस्पेस, कृषि, रीटेल, हेल्थकेयर और डिफेंस सेक्टर में इसकी मांग बढ़ी है। भारत का डिफेंस सेक्टर तेजी से रोबॉट्स की ओर बढ़ रहा है। फिलहाल तो सेना में बम को निष्क्रिय बनाने वाले दस्ते में रोबॉट्स शामिल हैं। अगले दशक में भारतीय सशस्त्र बलों में एक तिहाई रोबॉट को शामिल करने की जरूरत है। सिर्फ यह नहीं सर्जिकल रोबॉट्स की भी मांग तेजी से बढ़ रही है।


जॉब और सैलरी
रोबॉट की बढ़ती मांगों के साथ इससे संबंधित इंजिनियर, ऑपरेटर और तकनीशियनों की भी मांग बढ़ेगी। रोबॉटिक्स कोर्स करने वाले छात्रों के पास कई फील्ड में अवसर होंगे जैसे रोबॉट्स का रिसर्च और डिवेलपमेंट, रखरखाव और क्वॉलिटी कंट्रोल। अडवांस्ड डिग्री करने के बाद रोबॉटिक्स साइंटिस्ट, रोबॉटिक्स इंजीनियर और रोबॉटिक्स टेक्नीशियन के तौर पर जॉब कर सकते हैं। भारत में इनकी सैलरी 5-6 लाख रुपये सालाना पैकेज से शुरू होती है।


कोर्स
मौजूदा समय में भारत में 15 यूनिवर्सिटियों में रोबॉटिक्स कोर्स कराए जाते हैं। ज्यादातर संस्थान रोबॉटिक्स में स्पेशलाइजेशन के साथ मास्टर कोर्स ऑफर कर रहे हैं। कुछ यूनिवर्सिटी इंजिनियरिंग के ऐसे कोर्स भी ऑफर कर रही हैं जिनमें रोबॉटिक्स और ऑटोमेशन की बेसिक शामिल होती है। पोस्ट ग्रैजुएट स्तर पर कई यूनिवर्सिटियां रोबॉटिक्स और ऑटोमेशन में स्पेशलाइजेशन ऑफर कर रही हैं। कैंडिडेट्स रोबॉटिक्स में एमएस, एमई, एमटेक जैसे हायर डिग्री कोर्स कर सकते हैं और पीएचडी भी। कौन से संस्थान कौन सा कोर्स करा रहे हैं, उसकी डीटेल्स आप नीचे देख सकते हैं।


इंटरनैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इन्फर्मेशन टेक्नॉलजी (आईआईआईटी), हैदराबाद रोबॉटिक्स में पोस्टग्रैजुएट, पीएचडी कोर्सों के साथ-साथ कुछ पार्ट टाइम प्रोग्राम भी ऑफर करता है। आईआईआईटी हैदराबाद में रोबॉटिक्स पर रिसर्च भी कराया जाता है।


आईआईटी कानपुर में एक सेंटर फॉर रोबॉटिक्स है। वहां एयरोनॉटिकल, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और मकैनिकल इंजीनियरिंग विभागों के फैकल्टी मेंबर्स कोर्स कराते हैं।


मणिपाल इंस्टिट्यूट में मेकाट्रॉनिक्स डिपार्टमेंट है जहां इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन और रोबॉटिक्स में एमटेक कराया जाता है। 


Popular posts
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल पर दर्ज कराई एफआईआर, बेडों की कालाबाजारी का आरोप
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image