शहद देखकर पिंजरे में आए मादा भालू और उसके बच्चे को ट्रैंकुलाइज कर जंगल में छोड़ा, थर्मल ऑपरेटर पर किया था हमला


कोटा. मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व के जवाहर सागर सेंचुरी एरिया में 18 मई को थर्मल ऑपरेटर पर हमला करने वाली मादा भालू को रिजर्व की टीम ने गुरुवार को ट्रेंकुलाइज कर लिया। रिजर्व की टीम पिछले दो दिनों से इन भालुओं की तलाश में थी। इनको पकड़ने के लिए दो पिंजरे लगाए गए थे। 
पिंजरे की ओर आती मादा भालू।
पिंजरे की ओर आती मादा भालू।


आखिरकार भालू का प्रिय भोजन शहद का लालच उसे पिंजरे तक खींच लाया। पिंजरे में सबसे पहले शहद खाने के लिए भालू का बच्चा आया। काफी देर तक मादा भालू इधर-उधर मंडराती रही और फिर वह भी पिंजरे में आ गई। रेंजर संजीव गौतम ने बताया कि रिजर्व के सीनियर वैटरनरी डॉ. तेजेंद्र सिंह रियाड़ ने करीब 20 मीटर की दूरी पर मादा भालू को गन शॉट डॉट मारा। करीब एक मिनट बाद ही वह बेहोश हो गई। इसके बाद रियाड़ ने उसका हैल्थ चेकअप किया। टीसीएफ टी मोहनराज ने मां और बच्चे का हैल्थ चैकअप करने के बाद टाइगर रिजर्व में रिलीज किया गया। 
खाने-पानी की तलाश में जंगल से बाहर आ रहे
तेज गर्मी के साथ थर्मल क्षेत्र से भालू भोजन-पानी की तलाश में जंगल से बाहर निकलने लगे हैं। सोमवार रात को डीएम प्लांट के ऑपरेटर देवकीनंदन मोरवाल पर मादा भालू ने ऑपरेटर मोरवाल पर हमला कर दिया था। ऑपरेटर मोरवाल पानी पीने के लिए बाहर आया तो वहां बच्चे के साथ मादा भालू निकल रही थी। भालू ने मोरवाल पर हमला कर दिया और पंजों से गले पर लहूलुहान कर गंभीर घायल कर दिया। घायल मोरवाल को प्राथमिक उपचार के बाद एमबीएस अस्पताल ले जाया गया। 


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
ग्राम विकास अधिकारी को झूठी सूचना देना पडा भारी-पंचायती राज विभाग भीण्डर  ने दिये एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने के आदेश
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
 तब्लीगी जमात का मामला / केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- सीबीआई जांच की जरूरत नहीं, समय पर रिपोर्ट पेश की जाएगी
Image
कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती 17 साल के लड़के की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, इसके संपर्क में आए 5 लोगों के सैंपल लिए
Image