कोरोना वायरस ट्रैकर ऐप 'आरोग्य सेतु' करें डाउनलोड, ऐसे सुरक्षित रहेंगे आप





जानें 'आरोग्य सेतु' ऐप के बारे में सब कुछ



जानें 'आरोग्य सेतु' ऐप के बारे में सब कुछ

 



भारत सरकार की ओर से कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए अलग-अलग स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में अब Aarogya Setu नाम का एक स्मार्टफोन ऐप लॉन्च किया गया है, जो आपको बताएगा कि आप किसी कोरोना वायरस (COVID-19) संक्रमित व्यक्ति के पास से गुजरे हैं या फिर संपर्क में आए हैं। आरोग्य सेतु ऐप ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन्स और आईफोन दोनों के लिए उपलब्ध है। यह ऐप ब्लूटूथ, लोकेशन और मोबाइल नंबर की मदद से चेक करता है कि आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में तो नहीं आए, जिसमें कोरोना संक्रमण मिला हो। ऐप में और भी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे COVID-19 हेल्प सेंटर्स और सेल्फ असेसमेंट टेस्ट शामिल हैं, जिससे आप चेक कर सकते हैं कि आप पर इस संक्रमण का खतरा तो नहीं है। आरोग्य सेतु के बारे में बाकी जानकारी हम आपको देने जा रहे हैं,






ऐसे करें डाउनलोड

ऐसे करें डाउनलोड



आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स को प्ले स्टोर और आईफोन यूजर्स को ऐप स्टोर में जाकर आरोग्य सेतु (AarogyaSetu - बिना बीच में स्पेस दिए) सर्च करना है। यह ऐप दिल जैसे आइकन के साथ दिख जाएगा, जिसे आप इंस्टॉल कर सकते हैं।3/10









सही ऐप करें इंस्टॉल



सही ऐप करें इंस्टॉल


आरोग्य सेतु से मिलते-जुलते कई ऐप्स में से जरूरी है कि आप ऑफिशल ऐप ही इंस्टॉल करें। इस ऐप को NIC की ओर से पब्लिश किया गया है और ऐप आइकन के नीचे डिवेलपर का नाम NIC eGov Mobile Apps (ऐंड्रॉयड यूजर्स को) और NIC (आईफोन यूजर्स को) दिखेगा। इसे पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में डिवेलप किया गया है।








ऐसे करता है काम





आरोग्य सेतु ऐप इंस्टॉल करने के बाद पहली बार इसे ओपन करेंगे तो कुछ परमिशंस भी देनी होंगी। यह ऐप आपके मोबाइल नंबर, ब्लूटूथ और लोकेशन डेटा की मदद से पता करता है कि आप सुरक्षित हैं या फिर आप पर संक्रमण का खतरा है।







रजिस्टर करें अपना फोन नंबर





आरोग्य सेतु ऐप इस्तेमाल करने के लिए ब्लूटूथ और जीपीएस का ऐक्सेस देने के बाद आपको मोबाइल नंबर रजिस्टर करना होगा। इस नंबर पर आने वाले ओटीपी की मदद से आप खुद को वेरिफाइ कर सकेंगे। इसके बाद आप चाहें तो नाम, उम्र, प्रफेशन जैसे और कुछ डीटेल्स भर सकते हैं लेकिन यह भरना जरूरी नहीं है। आप कोरोनो से लड़ने में मदद करने के लिए वॉलेंटियर बनना चाहें तो यहीं उसके लिए भी इनरोल कर सकते हैं।







सोशल ग्राफ पर दिखेगा स्टेटस



सोशल ग्राफ पर दिखेगा स्टेटस



आपके लोकेशन डीटेल्स और सोशल ग्राफ के आधार पर आरोग्य सेतु ऐप बताएगा कि आप लो-रिस्क या फिर हाई-रिस्क किस कैटिगरी में हैं। अगर आप हाई-रिस्क पर होंगे तो ऐप आपको अलर्ट करते हुए टेस्ट सेंटर विजिट करने की सलाह भी देगा।







सभी हेल्प सेंटर्स के मोबाइल नंबर



सभी हेल्प सेंटर्स के मोबाइल नंबर



आरोग्य सेतु ऐप पर अलग-अलग राज्यों में खास कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ने के लिए बनाए गए हेल्प सेंटर्स के फोन नंबरों की पूरी लिस्ट दी गई है।







खुद चेक करें आप सेफ हैं या नहीं



खुद चेक करें आप सेफ हैं या नहीं



आरोग्य सेतु ऐप में आपको सेल्फ असेसमेंट टेस्ट का ऑप्शन भी दिया गया है। यहां आसान सवालों के आपको जवाब देने होंगे और पता लग जाएगा कि आपको कोरोना संक्रमण होने का खतरा है या फिर आप सुरक्षित हैं।







अगर दिखें लक्षण तो क्या करें?



अगर दिखें लक्षण तो क्या करें?



ऐप में बताया गया है कि अगर आपमें कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े लक्षण जैसे- लगातार बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ दिखाई दें तो आपको क्या करना चाहिए। यह सेल्फ आइसोलेशन के बारे में भी यूजर्स को जानकारी देता है।







11 भाषाओं में उपलब्ध



11 भाषाओं में उपलब्ध



कोरोना वायरस ट्रैकर आरोग्य सेतु ऐप 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। इनमें इंग्लिश, हिन्दी, गुजराती, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, उड़िया, मराठी, बांग्ला और पंजाबी शामिल ह





ैं।


Popular posts
 चूरू में कोरोना / 5 साल के बच्चे समेत 10 नए पॉजिटिव मिले, इनमें 8 प्रवासी, कुल आंकड़ा 152 पर पहुंचा
Image
भारत-चीन में हुई लेफ्टिनेंट जनरल लेवल बातचीत
Image
नहर में मिला अज्ञात युवक का शव, पानी से बाहर निकालने से लेकर मोर्चरी में बर्फ लगाकर रखने तक का कार्य पुलिस ने ही किया
Image
धर्म स्थल खोलने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी -मुख्यमंत्री ने की धर्म गुरू, संत-महंत एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा
Image
CAA के खिलाफ साम्प्रदायिक दंगा मामले में 5वीं चार्जशीट दाखिल, मुस्लिम भीड़ ने व्यक्ति को जिंदा जलाया
Image