नेटवर्क पाने की जद्दोजहद / राजस्थान के बूंदी में पेड़ पर मचान बनाकर ऑनलाइन क्लास अटेंड कर रहे स्टूडेंट़्स   


बूंदी.. यह तस्वीर शहर से बूंदी शहर से सटे दलेलपुरा गांव की है। गांव में करीब तीन किमी दायरे में मोबाइल नेटवर्क ठीक से नहीं पकड़ता। ऐसे में यहां के लोगों को मोबाइल पर बात करने के लिए भी छत पर चढ़ना पड़ता है। इन दिनों कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेशभर में स्कूल-कॉलेज बंद हैं। सरकार ने केजी से पीजी तक स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन पढ़ाई शुरू की है। गांव में नेटवर्क प्रॉब्लम की वजह से कॉलेज स्टूडेंट्स ने ऑनलाइन स्टडी का अलग तरीका निकाल लिया। पेड़ों पर चारपाई लगाकर मचान बना ली और धूप से बचने के लिए उस पर चादर तानकर ऑनलाइन स्टडी कर रहे हैं।


गांव में ऊंचाई वाले पेड़ पर नेटवर्क-स्पीड पूरी मिल जाती है। गांव में 12वीं के 12, 10वीं के 15 और कॉलेज के 10 स्टूडेंट्स हैं। उन्होंने पेड़ों पर ही अपना क्लासरूम बना लिया है। इसके अलावा, कई स्टूडेंट्स के पास एंड्रॉयड मोबाइल नहीं है। ऐसे में जिस छात्र के पास लैपटॉप होता है उससे मोबाइल का नेटवर्क कनेक्ट करके कई छात्र एक साथ पढ़ाई करते हैं। रजिस्टर-कॉपी में नोट्स भी उतार लेते हैं। गांव के आसपास पहाड़ी एरिया है। इसलिए, नेटवर्क आने में दिक्कत आती है।
गांव के स्कूल और कॉलेज के स्टूडेंट्स ने पेड़ पर ही क्लासरूम बना लिया है।


Popular posts
क्या सुहागरात पर होने वाला सेक्स सहमति से होता है?
Image
कोरोना लॉकडाउन में जरूरतमंद गरीब परिवारों को राहत 1000 रुपयों के बाद 1500 रुपये की और मिलेगी सहायता
Image
गहलोत बोले- धार्मिक आधार पर लोगों को देश से बाहर करने के लिए सरकार खुद अफवाह फैला रही
Image
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर एवं टेस्ट किट का इंतजाम करके रखें-हैल्थ केयर वर्कर्स हमारे अग्रिम योद्धा-बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखा जाए-मुख्यमंत्री -अशोक गहलोत-
Image
निर्भया कांड के दोषी की दया याचिका गृह मंत्रालय को मिली, जल्द भेजी जाएगी राष्ट्रपति के पास
Image